तर्क : आखिर हांसिल क्या हुआ !

 बात तब की है जब कुछ समय बचा है लोक सभा चुनाव के लिए पूरा देश चुनावी मोड में आ चूका था और विपक्ष सत्ता पर अपने चुनावी हमले दिन ब दिन तेज़ किये जा रहा था ! विपक्ष ने पूरा रुख विकास पर मोड दिया था और सत्ता पक्ष कहीं न कहीं बैकफुट  पर था और विपक्ष अपने पुरे कार्यकाल 2004 से 2014 में की उपलब्धियों को भुनाने में तत्पर था और सत्ता पक्ष जल्द से जल्द अपनी बंद पड़ी हुयी योजनाओं का शिलान्यास करके देश की जनता को यह बताना चाहता था की हमने यह सब प्रयोजनायो शुरू की है और कुछ प्रोजेक्ट्स जल्दबाज़ी में शुरू किये और सम्पूर्ण कराये गए जिनका हाल कुछ इस प्रकार हुआ की जो कैराना लोक सभा सीट के लिए सज्ज रोड का उदघाटन किया वो एक हफ्ते बाद ज़मीन में धंसती हुयी नज़र आयी हालांकि ये कुछ पुराणी बात है लेकिन शुरुआत तब से ही हुयी थी ! अभी हाल ही में महिपालपुर, दिल्ली बाईपास के पास से जो एक फ्लाईओवर और एक अंडरपास जो की महज़ 5-6 महीने ही पहले सीपीडब्ल्यूडी द्वारा शुरू किया गया था उसे सरकार का काम दिखाने के लिए इतनी जल्दी पूरा किया गया कि उसके उदघाटन के महज़ 2 दिन में ही उसकी सड़क ज़मीन में धंस गयी और पूरी सड़क में जगह जगह बड़ी बड़ी दरारें पद गयी ऐसे ही धौला कुआँ, दिल्ली की रेड लाइट पर जो एयरपोर्ट कॉरिडोर के लिए फ्लाईओवर बनाया उसका भी गीला सूखा निर्माण कुछ ही दिनों में देखने को मिलेगा !

                   अब बात करते है की सरकार को इतनी जल्दी किस चीज़ की है जो सभी प्रोजेक्ट रात को शुरू करके सुबह शिलान्यास कराना  चाहती है, यहाँ हम बता दें कि सरकार पर समय समय पर यह आरोप लगता रहा है कि सरकार विकास के नाम पर सत्ता में आयी थी लेकिन सत्ता सत्ता में आने के बाद अपने उसी पुराने मुद्दे पर कायम रही जो न तो किसी के काम के है, ना ही उसका किसी से सरोकार है ! टी वी चैनल्स ने भी खूब रोल अदा किया जो हर वक्त हिन्दू मुस्लिम बहस, गौरक्षा के मुद्दे (हालांकि अब भी बीफ कि बिक्री और निर्यात कम नहीं हुआ है जबकि सत्ता पक्ष ने बीफ कि कंपनियों से बाकायदा चंदा भी लिया है), और तीसरा व् आखरी अपने से विभिन्न सोच समझ रखने वाले को देश्ध्रोही का प्रमाण पत्र बांटना ! पिछले पांच सालो में बस इन् सनसनी खेज मुद्दों पर ही चर्चाएं चली है, विकास पर कोई बात हुयी नहीं लेकिन प्रधानमंत्री जी झूठे घोषणाएं ज़रूर कर दी जैसे के 4 सालों में 35 हवाई अड्डे बना दिए गए जबकि केवल एक ही हवाई अड्डा तैयार किया गया जो सिक्किम का हवाई अड्डा है वो भी केवल फंक्शनल किया गया जिसकी नींव भी यूपीए के दौरान रखी गयी थी !

                     अब जैसे ही चुनाव सर पर आन पड़े तो सरकार जल्दबाज़ी में विकास करना चाह रही है ! बचपन में एक कहावत सुनी थी के जल्दबाज़ी का काम शैतान का काम होता है और सहज पके सो मीठा होये ! अब क्या करें यही इस सरकार की पहचान बन चुकी है चाहे वह विमुद्रीकरण (नोटबॅंधी) के लिए लिया गया फैसला हो या फिर GST का लिया गया फैसला हो ! यह सब फैसले तो सही थे लेकिन जिस प्रकार यह ज़मीन पर जल्दबाज़ी में लिए गए इनका प्रभाव उल्टा पड़ गया और सरकार के गले की फांस बन गया ! इसी के चलते गोरखपुर में शुरू किया गया एम्स (AIIMS) जो की अभी निर्माणाधीन ही था उसकी OPD विभाग को पांच दिनों में मुक्कम्मल कराया गया जबकि उसमे अभी तक पूरा स्टाफ अभी तक आया भी नहीं था, अब आप ही बताएं ऐसे OPD में जाकर मरीज़ करेगा क्या, जहाँ डॉक्टर ही नहीं होगा का वहां के गार्ड से हाथ मिलाकर आएंगे अभी आज ही सुना की गटकारी जी ने दिल्ली से मुंबई जाने वाले DMIC कॉरिडोर का उदघाटन भी कर दिया और कहा है की जल्द ही इसपर काम भी शुरू होगा ! अब अचार संहिता लगने से बस कुछ ही दिन पहले ही शिलन्यास करने की होड़, कहीं न कहीं सरकार की विफलताएं ब्यान कर रही है !

                    उपरोक्त विकास कार्यों के शिलान्यासों की जल्दबाज़ी में कुछ ऐसा हुआ की सभी क्षुब्ध व् सन्न रह गए और यह था CRPF जवानो पर पुलवामा में किया गया आत्मघाती हमला, जिसे पुलवामा, कश्मीर के ही रहने वाले युवक आदिल अहमद डार ने मानव बम बन कर अंजाम दिया और जिसमे हमारे देश के 40 बहादुर CRPF जवान घटना स्थल पर ही शहीद हो गए ! बताया जाता है की शहीदों के शरीर के टुकड़े भी पता नहीं कहाँ कहाँ जाकर गिरे ! धमाका इतना भारी था की इसका रेडियस 100 से 150 मीटर तक था और इसमें इस्तेमाल किया गये RDX विस्फोटक  का वज़न 350 kg था ! पूरा देश सदमे में था और यह समझ नहीं पा रहा था कि अचानक हो क्या गया , हमले की ज़िम्मेवारी POK स्थित जैश-ए-मुहम्मद ने ली, जहाँ सरकार को बस यह दिख रहा था कि जल्द से जल्द इस हमले कि जवाबी कार्यवाही करके देश को बस यह बता दे कि हमारी सरकार एक निर्णायक व् जवाबदेह सरकार है ! हमला 14 फरवरी को हुआ था और 10 दिन बीत चुके थे और सरकार पर लोगो का गुस्सा बढ़ता ही जा रहा था हमारे देश का पूजनीय मीडिया खूब रोल अदा कर रहा था जो बार बार यह बोल रहा था के “हमें बदला चाहिए” ! आखिर 26 फरवरी 2019 को वही हुआ जो देश बहुत ही दिनों से उम्मीद लगाए बैठा था, लोगो का ध्यान अचानक से विकास कार्यो व् विकास के मुद्दों से हटकर पुलवामा अटैक और उसके लिए जाने वाले बदले पर टिका हुआ था, वहीं यह बता दें कि विपक्ष इस दुःख कि घडी में सरकार के साथ कंधे से कन्धा मिलकर खड़ा दिखा के जो भी सरकार का निर्णय होगा हम उसके साथ हैं जिसकी झलक तब दिखी जब विपक्ष ने अपने सभी प्रोग्राम स्थगित कर दिए, वहीं हमारे आदरणीय प्रधानमंत्री जी ने अपने किसी भी राजनीतिक या सरकारी प्रोग्राम रद्द नहीं किये ! अब यहाँ हो न हो प्रधानमंत्री जी से चूक तो हुयी है ! अगर प्रधानमंत्री हमले के तुरंत बाद अपना जिम कॉर्बेट वाला कार्यक्रम रद्द कर घटना स्थल पर पहुँचते या केंद्रीय कैबिनेट सुरक्षा कि मीटिंग बुलाते और मौजूदा स्थिति कि जांच कर निर्णय लेते और एक या दो दिन का शोक घोषित कर देते तो शायद प्रधानमंत्री जी कि छवि जो उभर के आती तो 2019 चुनाव में किसी का ध्यान  विकास पर नहीं जाता ! बहरहाल, लेकिन ऐसा नहीं हुआ और 26 फरवरी 2019 की तड़के 3:30 बजे भारतीय वायुसेना ने  पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में जैश-ए-मुहम्मद के ठिकानों पर हमला करके नेस्तनाबुद्द कर  कर दिया ! उसमे कितने आतंकवादी मारे गए इसकी कोई पुख्ता जानकारी नहीं मिल पायी है और न ही भारत सरकार ने और न ही भारतीय वायुसेना ने इस बात की पुष्टि की कि कितने आतंकवादी मारे गए ! लेकिन हमारे देश के मीडिया को सलाम करना चाहेंगे कि उन्होंने न्यूज़ रूम में बैठ कर ही 300-400 आतंकवादी मार गिराए ! जिस दिन यह हमला  किया गया उसदिन पूरा दिन हमारे न्यूज़ चैनल्स ने पता नहीं क्या क्या चला दिया ! देश में जो रोष था वो कुछ हद तक शांत हो गया ! लेकिन दूसरे दिन सुबह करीब 10 बजे जवाबी कार्यवाही पाकिस्तान ने भी कर दी जिसमे भारतीय वायुसेना बहुत ही बहादुरी से लड़ते हुए पाकिस्तान के 20 ज़्यादा  F-16 विमानों को भारतीय वायुसीमा से बहार खदेड़ दिया व् पाकिस्तान के एक लड़ाकू विमान को मार गिराया लेकिन इसमें भारतीय वायुसेना का हेलीकॉप्टर तकनिकी खराबी के कारन क्षतिग्रस्त हो गया व् जिसमे भारतीय वायुसेना के 4 वायुसैनिक मारे गए और F -16  को रोकते हुए हमारे दो लड़ाकू  विमान मिग – 21 (Bison) क्षतिग्रस्त हो गए व् एक लड़ाकू पायलट शहीद हो गए व् दूसरा लड़ाकू विमान F-16  को गिराकर वापिस आते हुए क्षतिग्रस्त हो गया जिससे बचने के लिए हमारे लड़ाकू पायलट ने आपातकालीन इजेक्ट करना पड़ा व पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में लैंड करना पड़ा जिन्हे वहां के स्थानीय लोगो ने पकड़ कर पहले तो मरना पीटना शुरू कर दिया लेकिन पाकिस्तान सेना के एक मेजर ने अपने सैनिकों के साथ समय से आकर उनका बचाव किया व् गिरफ्तार  कर अपने साथ ले गए !

अब हमारी भारतीय वायुसेना का जांबाज़ पायलट विंग कमांडर अभिनन्दन वृथामन पाकिस्तान के कब्ज़े में थे ! लेकिन पाकिस्तान ने थोड़ी समझदारी दिखाते हुए 27  फरवरी 2019 को गिरफ्तार किये गए पायलट को 01 मार्च 2019 को जैसे के तैसे रिहा कर दिया ! यहाँ बता दें कि पाकिस्तान अगर यह शान्ति भरा कदम नहीं उठाता तो उसे इसके अनचाहे परिणाम भुगतने पड़ते क्योंकि पाकिस्तान कि अर्थव्यवस्था वैसे ही चरमराई हुयी है अगर भारत और आगे बढ़ता तो शायद पाकिस्तान पूरा तबाह हो जाता ! पायलट को वापिस करने के इलावा पाकिस्तान के पास कोई चारा नहीं था ! लेकिन भारत को भी एक सीख लेनी चाहिए कि पाकिस्तान की माली हालत खराब होने की वजह से हमारे पायलट आज हमारे पास है अगर ‘पायलट को पाकिस्तान देने से मना कर देता तो शायद हालात और बिगड़ सकते थे ! अपने भारत के न्यूज़ चैनल्स से यह दर्ख्वास्त करना  चाहेंगे कि कृपया फ़ौज की लड़ाई को न्यूज़ रूम की लड़ाई न बनाएं और सरकार से गुज़ारिश है कि युद्ध जैसी स्थिति बनने से रोकने की हर संभव कोशिश की जाये ! आखिर ये पुरे एपिसोड में चुनाव से पहले हमें आखिर हांसिल क्या हुआ ? यह सवाल अब भी वैसे का वैसा है ! लेकिन चुनाव में जाने के लिए तो विकास पर ही बात होगी ! हमारी सेना के बलबूते ऐसे युद्ध भारत पहले भी कई बार लड़ चुका है और जीत चुका है, जिससे सिर्फ और सिर्फ दोनों तरफ नुक्सान ही होता है !

जय हिन्द ! जय भारत !            

Bikram Chattowal

(The author is an article writer and seasonal poet. The views shared in this report are personal. The Citizen Dialogue doesn’t endorse it.)                            

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s